XML क्या है? व इसके उपयोग और विशेषताएं क्या है?

XML Full Form:- यदि आप यहां हैं और इस लेख को पढ़ रहे हैं, तो इसका मतलब है कि आप XML के बारे में खोज कर रहे हैं।

यदि हाँ, तो आप बिलकुल सही स्थान पर हैं। जी हां, इस लेख में हमने XML से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की है।

अतः XML Full Form व उससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को पूरा जरुर पढ़िए। तो चलिए शुरू करते है:-

XML का परिचय : Introduction of XML in Hindi

XML एक प्रकार की मार्कअप भाषा (Markup Language) है। जिसका उपयोग किसी डाटा (Data) को इकठ्ठा (Store) करने और उसे एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाने के लिए किया जाता है।

XML की एक खास बात यह है कि यह भाषा HTML के साथ मिलकर भी अपना कार्य कर सकती है।

दरअसल XML और HTML से मिलकर एक नई भाषा का निर्माण होता है, जिसे X-HTML के नाम से जाना जाता है।

XML का उपयोग किसी डाटा (Data) को संरक्षित (Store) करना होता है, लेकिन इसके अतिरिक्त इसका एक अन्य उपयोग भी होता है।

दरअसल XML एक मार्कअप भाषा (Markup Language) होने के साथ-साथ यह एक वेब-डिजाइनिंग भाषा (Web-Designing Language) भी है।

जिसका उपयोग वेबसाइट डिजाइनिंग (Website Designing) के लिए किया जाता है।

XML की एक खासियत यह भी है कि इसके माध्यम से छोटे से छोटे Size का Data को Store करके उसके पढ़ा (Read) किया जा सकता है।

XML, किसी दस्तावेज (Document) की संकेतीकरण (Encoding) को एक ऐसे प्रारूप (Formet) में परिभाषित (Defined) करती है, जिसे आसानी से समझा जा सकता है।

इस प्रकार, XML के कारण ही इन्टरनेट आज के समय में इतना सरल और उपयोगी हुआ है।

XML के अंदर किसी File को Save करते है तो उसका Extension “.xml” होता है। एक Web Designer बनने के लिए आपके पास HTML और CSS के साथ-साथ XML का ज्ञान होना अत्यंत आवश्यक है।

XML FULL FORM IN HINDI & ENGLISH

XML FULL FORM IN ENGLISH
EXTENSIBLE MARKUP LANGUAGE
XML FULL FORM IN HINDI
विस्तारणीय चिह्नित भाषा

XML क्या है? : What is XML in Hindi

XML एक प्रकार की मार्कअप भाषा (Markup Language) है। जिसका उपयोग किसी डाटा (Data) को इकठ्ठा (Store) करने और उसे एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाने के लिए किया जाता है।

XML Full Form – Extensible Markup Language है। XML की एक खास बात यह है कि यह भाषा HTML के साथ मिलकर भी अपना कार्य कर सकती है।

दरअसल XML और HTML से मिलकर एक नई भाषा का निर्माण होता है, जिसे X-HTML के नाम से जाना जाता है।

XML का उपयोग किसी डाटा (Data) को संरक्षित (Store) करना होता है, लेकिन इसके अतिरिक्त इसका एक अन्य उपयोग भी होता है।

दरअसल XML एक मार्कअप भाषा (Markup Language) होने के साथ-साथ यह एक वेब-डिजाइनिंग भाषा (Web-Designing Language) भी है।

XML भाषा के निर्माण का मुख्य उद्देश्य क्या है? : What is The Main Purpose to Develop XML Language

  • सरलता
  • सामान्यता
  • सहायकता

XML भाषा के प्रोग्राम का उदाहरण : Example of XML Language

<students>  
<student id="10001">    
 <name>Neeraj Prajapat</name>    
 <gender>male</gender>    
 <class>10</class>    
 <results>      
  <result subject="Math" grade="A"/>      
  <result subject="Science" grade="B+"/>      
  <result subject="Social Science" grade="C"/>    
 </results>
</student>
 <student id="10002">    
 <name>Nitin Prajapat</name>    
 <gender>female</gender>    
 <class>10</class>    
 <results>      
 <result subject="Math" grade="B+"/>      
 <result subject="Science" grade="A"/>      
 <result subject="Social Science" grade="C+"/>    
 </results>
</student>
</students>

XML का इतिहास : History of XML in Hindi

XML भाषा का निर्माण (Development) सन 1996 में किया गया था। XML को ‘John Bosak‘ ने निर्मित (Develop) किया था।

आज के समय में XML कईं संस्करणों (Versions) में मौजूद है। लेकिन इसका सबसे पहला संस्करण (Version) 10 फरवरी, सन 1998 में Develop किया गया था।

जिसे ‘XML 1.0‘ नाम दिया गया। इसके बाद इसके दूसरे संस्करण (Version) को 4 फरवरी सन 2004 में Develop किया गया। जिसे ‘XML 1.1‘ नाम दिया गया।

1990 के दशक के मध्य तक एसजीएमएल के कुछ Developers ने तत्कालीन नए वर्ल्ड वाइड वेब के साथ अनुभव प्राप्त किया था।

उनके अनुभव के अनुसार उन्होंने यह माना कि एसजीएमएल ने उन कुछ समस्याओं के समाधान की पेशकश की है जो वेब के विकास की संभावना थी।

सन 1995 में दल में शामिल होने पर डैन कोनोली (Dan Connolly) ने W3C की गतिविधियों की सूची में SGML को शामिल किया।

सन 1996 के मध्य में इसका काम शुरू हुआ और us समय सन माइक्रोसिस्टम्स के इंजीनियर जॉन बोसाक (John Bosak) ने एक चार्टर विकसित किया और सहयोगियों की भर्ती की।

जॉन बोसाक (John Bosak) एसजीएमएल और वेब दोनों में अनुभव करने वाले लोगों के छोटे समुदाय से अच्छी तरह से जुड़े हुए थे।

XML को ग्यारह सदस्यों के एक कार्यकारी समूह द्वारा संकलित (Compiled) किया गया था, एक मोटे तौर पर 150 सदस्यीय हित समूह द्वारा समर्थित है।

इस मुद्दे को लेकर ब्याज समूह की मेलिंग सूची में तकनीकी बहस हुई और मुद्दे को सभी की सहमति से हल किया गया था। लेकिन वह विफल हो गया, क्योंकि कर्मचारी समूह के बहुसंख्यक वोट थे।

4 दिसंबर, 1997 को माइकल सपरबर्ग-मैक्क्वीन (Michael Sperberg-McQueen) द्वारा डिजाइन निर्णयों और उनकी युक्तियों का रिकॉर्ड संकलित (Compiled) किया गया था।

जेम्स क्लार्क (James Clark) ने कर्मचारी समूह के तकनीकी संचालक के रूप में कार्य किया।

उन्होंने विशेष रूप से रिक्त-तत्व <खाली /> वाक्यविन्यास (empty-element syntax) और “XML” नाम का योगदान दिया।

जिन अन्य नामों पर विचार किया गया, उनमें “MAGMA” (Minimal Architecture for Generalized Markup Applications), “SLIM” (Structured Language for Internet Markup) और “MGML” (Minimal Generalized Markup Language) शामिल हैं।

विनिर्देश के सह-संपादक मूल रूप से टिम ब्रे (Tim Bray) और माइकल स्परबर्ग-मैकक्वीन (Michael Sperberg-McQueen) थे।

आधे रास्ते में Tim Bray प्रोजेक्ट के लिए नेटस्केप (Netscape) के साथ एक परामर्श समझौता स्वीकार कर लिया, जिससे माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) से मुखर विरोध भड़क गया।

Tim Bray इस निर्णय के कारण उन्हें अस्थायी रूप से संपादकीय इस्तीफा देने के लिए कहा गया था। जिससे कार्य समूह में गहन विवाद का शुरू हो गया था।

अंततः यह विवाद तीसरे सह-संपादक के रूप में माइक्रोसॉफ्ट की जीन पाओली (Jean Paoli) की नियुक्ति से खत्म हो गया।

XML कार्य समूह कभी आमने-सामने नहीं मिला। XML की बनावट (Design) को ईमेल और साप्ताहिक टेलीकांफ्रेंस के संयोजन का उपयोग करके पूरा किया गया था।

प्रमुख डिजाइन निर्णय सन 1996 के अगस्त और नवंबर के बीच तीव्र कार्य के एक छोटे से विस्फोट में पहुंच गए। जब एक XML विनिर्देशन का पहला कार्य प्रारूप प्रकाशित किया गया था।

आगे का डिज़ाइन कार्य 1997 से जारी रहा और XML 1.0 संस्करण 10 फरवरी, सन 1998 को W3C अनुशंसा बन गया।

XML की विशेषताएं : Features of XML in Hindi

  • XML में डेटा को मार्कअप भाषा के द्वारा वर्णन (Describe) किया जाता है।
  • XML में Data को लम्बे समय तक संरक्षित रखकर उसे दुबारा उपयोग में लिया जा सकता है।
  • XML के Data का विवरण (Description) पाठ प्रारूप (Text Format) में दिया जा सकता है।
  • XML के प्रारूप (Format) को मानव (User) और कंप्यूटर (Computer) दोनों ही आसानी से पढ़ व समझ सकते है।
  • XML डेटा को Tree Structure में संभालता (Handle) है। जिसके कारण प्रसंस्करण (Processing) तेजी से होती है।
  • XML का उपयोग ऑफ़लाइन संग्रहण (Offline Storage) और डेटा संसाधन (Data Processing) के लिए किया जाता है।
  • XML के द्वारा जटिल संरचना डाटा (Complex Structure Data) को बहुत ही प्रभावशाली और उत्कृष्ट रूप से संभाला (Handle) किया जा सकता है।

XML का उपयोग : Uses of XML in Hindi

  • XML का उपयोग किसी भी Website का Sitemap बनाने के लिए भी किया जा सकता है।
  • XML का उपयोग बड़ी-बड़ी वेबसाइटों की देख-रेख (Maintain) करने के लिए किया जा सकता है।
  • XML का उपयोग संगठनों के बीच डाटा का आदान-प्रदान (Data Exchange) करने के लिए किया जा सकता है।
  • XML का उपयोग, XML को वर्तिका पत्र (Style Sheets) के साथ जोड़ने (Merge) के लिए भी किया जा सकता है।
  • XML का उपयोग डेटाबेस (Database) को भरने (Load) और खाली करने (Unload) करने के लिए भी किया जा सकता है।
  • XML का उपयोग किसी भी प्रकार के डेटा को XML Document के रूप में अभिव्यक्त (Express) करने के किया जा सकता है।

XML की सीमाएँ : Limitations of XML

प्रत्येक वस्तु के कुछ लाभ होने के साथ-साथ उसकी कुछ हानियाँ भी होती है। ठीक इसी प्रकार, XML में भी कुछ हानियाँ (सीमाएँ) है। XML की सभी हानियों का वर्णन नीचे विस्तारपूर्वक किया गया है:-

  • XML में Namespaces का प्रयोग करने में समस्यात्मक (Problematic) है।
  • XML का वाक्य-विन्यास (Syntax) बहुत ज्यादा वाचाल (Verbose) हैं। अर्थात अत्यंत व्याख्यात्मक है।
  • XML दस्तावेज (Document) को स्थापित (Setup) करने में बहुत ही अधिक कठिनाई और खर्चा होता है।
  • XML किसी भी प्रकार के डाटा के प्रकार (Data Type) का समर्थन (Support) नहीं करती है। उदाहरण:- Integer & Strings
  • XML का कोई अनुप्रयोग प्रसंस्करण प्रणाली (Application Processing System) नहीं है। इसे प्रसंस्करण (Processing) के लिए HTML पर निर्भर (Dependent) रहना पड़ता है।

XML और HTML के बीच में क्या अंतर है? : What is The Difference Between XML & HTML in Hindi

XMLHTML
XML का उपयोग डाटा (Data) को इकठ्ठा (Store) करने और उसे एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाने के लिए किया जाता है।HTMLका उपयोग डाटा (Data) को प्रदर्शित (Display) करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
HTML के सभी Tags पूर्वनिर्धारित (Predefined) होते हैं।XML के Tags पूर्वनिर्धारित (Predefined) नहीं होते हैं।
XML, प्रायः HTML का पूरक है। बहुत से HTML अनुप्रयोगों में XML का प्रयोग Data के भण्डारण या आदान-प्रदान के लिये किया जाता है।HTML का प्रयोग उस Data को प्रारूप (Format) तथा प्रदर्शित (Display) करने के लिये किया जाता है।
Difference Between XML & HTML in Hindi

Frequently Asked Questions (FAQs) About XML

What is XML and why it is used?

XML एक प्रकार की मार्कअप भाषा (Markup Language) है। जिसका उपयोग किसी डाटा (Data) को इकठ्ठा (Store) करने और उसे एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाने के लिए किया जाता है।

What is the Difference Between HTML and XML?

XML का उपयोग डाटा (Data) को इकठ्ठा (Store) करने और उसे एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाने के लिए किया जाता है। जबकि HTMLका उपयोग डाटा (Data) को प्रदर्शित (Display) करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
HTML के सभी Tags पूर्वनिर्धारित (Predefined) होते हैं। जबकि XML के Tags पूर्वनिर्धारित (Predefined) नहीं होते हैं।
XML, प्रायः HTML का पूरक है। बहुत से HTML अनुप्रयोगों में XML का प्रयोग Data के भण्डारण या आदान-प्रदान के लिये किया जाता है। जबकि HTML का प्रयोग उस Data को प्रारूप (Format) तथा प्रदर्शित (Display) करने के लिये किया जाता है।

What is XML with Example?

<students>
<student id=”10001″>
<name>Neeraj Prajapat</name>
<gender>male</gender>
<class>10</class>
<results>
<result subject=”Math” grade=”A”/>
<result subject=”Science” grade=”B+”/>
<result subject=”Social Science” grade=”C”/>
</results>
</student>
<student id=”10002″>
<name>Nitin Prajapat</name>
<gender>female</gender>
<class>10</class>
<results>
<result subject=”Math” grade=”B+”/>
<result subject=”Science” grade=”A”/>
<result subject=”Social Science” grade=”C+”/>
</results>
</student>
</students>

XML Full FormXML Full Form in Hindi
XML Full Form in EnglishWhat is XML Full Form
What is the XML Full FormSAX XML Full Form
XML Full Form in AndroidXML Full Form in Computer
XML Full Form in Android in HindiXML Full Form in Computer in Hindi
XML Full Form

यह भी पढ़े:-

निष्कर्ष

अंत में आशा करता हूँ कि यह XML Full Form लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान कि गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस XML Full Form लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रो व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें।

इसके अतिरिक्त, यदि आपके मन में XML Full Form लेख से संबंधित कोई प्रश्न उठ रहा है? तो आप कमेंट के माध्यम से हमसे पूछ सकते हैं।

हम आपके द्वारा पूछे गए सभी के प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे। भविष्य में भी हम आपके लिए ऐसे ही रोचक व उपयोगी लेख लाते रहेंगे।

अतः आप भविष्य में प्रकाशित होने वाले सभी लेखों कि ताज़ा जानकारी के लिए कृपया हमारे फेसबुक पेज और वेबसाइट को Subscribe कर ले।

ताकि आपको भविष्य में प्रकाशित होने वाले लेखों की ताज़ा जानकारी समय पर मिल जाए।

धन्यवाद…

Leave a Comment